सैल्यूट… शहीद एएसआई तुकाराम ओंबले

Image

क्या आप तुकाराम ओंबले को जानते हैं… कभी नाम सुना होगा…? आपको शायद अभी भी याद न आया हो… खैर… अजमल आमिर कसाब के बारे में तो अब अच्छे से जानते होंगे…कसाब को आप कभी भूल भी नहीं पाएंगे… देश का सबसे बड़ा दुश्मन.. कसाब कितना लोकप्रिय है देख लिया ना… लेकिन बहुत कम लोग हैं जो तुकाराम ओंबले के बारे में जानते हैं… शहीद तुकाराम ओंबले वो नाम है जिन्होंने कसाब जिंदा पकड़ा… ओंबले जिनकी बदौलत पूरी दुनिया को पता चला कि पाकिस्तान के एक छोटे से कस्बे में रहने वाला एक युवक है जिसका नाम अजमल आमिर कसाब है… जो मुंबई पर 26 11 को हुए आतंकी हमले की सबसे अहम कड़ी था…. ओंबले की इस बहादुरी की वजह से पाकिस्तान की नापाक साजिश का खुलासा हुआ और आतंक के खिलाफ लड़ाई में देश को एक एक बड़ी सफलता मिली।

2555 दिन पीछे फ्लैश बैक में जाए तो… 26 नवंबर की वो काली रात थी… जिस रात की कोई सुबह नहीं थी… मुंबई में आतंकी खूनी खेल खेल रहे थे… मुंबई पुलिस के एएसआई तुकाराम ओंबले आतंक की उस रात मरीन ड्राईव पर तैनात थे… ताज होटल, ओबेराय होटल और लियोपार्ड कैफे पर हमले के बाद मुंबई में मौत मानो पूरी रफ्तार के साथ जिंदगी रौंद रही थी… ओंबले को सीनियर की ओर अलर्ट पर रहने के लिए कहा गया था… रात करीब साढ़े बारह बजे ओंबले अपनी बेटी के मोबाइल फोन पर बात करते है… बात कुछ सेकंड के लिए होती है… ओंबले खुद को सुरक्षित बताते हुए इस वादे के साथ सुबह जल्दी घर आने की बात कहते है कि अब परिवार का कोई सदस्य उनके हालचाल जानने के लिए फोन नहीं करेगा।

ओंबले की चौकस निगाह एक बार फिर सड़क पर जम जाती है… करीब 15 मिनिट बाद यानि बारह बजकर 45 मिनिट पर वॉकी टॉकी पर ओंबले को संदेश मिलता है… दो आतंकी एक स्कोडा कार को कब्जे में लेकर गिरगांव चौपाटी की ओर बढ़ रहे है… करीब एक मिनिट बाद ही स्कोडा कार सर्राती हुई ओंबले के सामने से गुजर जाती है।

48 वर्षीय ओंबले ने बगैर समय गंवाए अपनी मोटर सायकल स्कोड कार के पीछे दौड़ा दी… आतंकी पूरी रफ्तार के साथ कार को दौड़ा रहे थे… मुंबई पुलिस का ये एएसआई भी पूरी ताकत के साथ उनका पीछा कर रहा था… दोनों आतंकी हैंडग्रेनेड और एके 47 से लैस थे… ओर ओंबले के पास बस एक वॉकी टॉकी थी… इसी दरमियान पूरी मुंबई में नाकेबंदी कर दी गई थी… खासतौर पर साउथ मुंबई और उससे सटे सभी इलाकों में पुलिस के दल तैनात थे… चौपाटी के पहले सिग्नल पर डीबी मार्ग पुलिस के अफसर नाकेबंदी कर डटे हुए थे… नाकेबंदी होने की वजह से स्कोडा कार की रफ्तार थोड़ी कम हुई… इसी दौरान ओंबले ने अपनी मोटर सायकल कार के सामने अड़ा दी… मजबूरी में कार की दिशा बदलने की कोशिश में आतंकी अपनी कार डिवाईडर पर चढ़ा देते है।

कार में अबू इस्माइल और कसाब सवार थे…इसी दौरान फायरिंग हो गई… जवाबी फायरिंग में अबू इस्माइल मारा गया… दूसरी ओर ड्राईविंग सीट पर मौजूद कसाब को ओंबले के मोटर सायकल अचानक सामने लाने की वजह से संभलने का मौका नहीं मिला… मुंबई का ये जाबांज एएसआई तुरंत चीते की तरह ड्राईविंग सीट की ओर लपका… लेकिन तब तक कसाब एके47 पर अपनी पकड़ मजबूती से जमा चुका था… ओंबले भी कहा पीछे हटने वाले थे… उन्होंने पूरी ताकत से एके47 को पकड़ लिया… कसाब ने ट्रिगर पर उंगली रखी… और फायरिंग शुरू कर दी…. करीब 20 गोलियां ओंबले के पेट में जा धंसी… लेकिन उन्होंने एके 47 से अपनी पकड़ कमजोर नहीं होने दी… सैकड़ों लोग के खून से होली खेलने वाला कसाब और उसकी एके47 ओंबले के सामने बेबस हो गई… ओंबले गोली लगने के बाद नीचे गिर पड़े लेकिन एके47 उन्होंने नहीं छोड़ी… ओंबले ने कसाब को अपने किसी भी साथी पर गोली चलाने का मौका नहीं दिया… इसी दौरान डीबी मार्ग पुलिस थाने के अफसरों ने कसाब को अपने कब्जे में ले लिया।

ओंबले अब इस दुनिया में नहीं है… मरणोपरांत उन्हें शांतिकाल में देश के सर्वोच्च रक्षा सम्मान अशोक चक्र से नवाजा  गया… चार बेटियों का ये पिता मुंबई का असली शेर है… जिसने न जाने कितने बेगुनाह की जान बचाई… बल्कि कसाब के जिंदा पकड़े जाने की वजह से पाकिस्तान को भी बेनकाब कर दिया… सैल्यूट एएसआई तुकाराम ओंबले….

Advertisements

3 thoughts on “सैल्यूट… शहीद एएसआई तुकाराम ओंबले

  1. We all do remember, the people how led there lifes for our country and can not forget shri tukaram.. for his work rather his sacrifice for the country… we salute them once again in hope at that what the goverment has done for them and would countinue doing the same…

  2. तुकाराम जैसे बहुत कम ही लोग होते है ,हर भारतीय को सैल्यूट करना चाहिए

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s